हिंदी ग्रामर रिवीजन एक नजर में Hindi  Grammer very important short revision


संज्ञा के भेद - 5
रचना के आधार पर संज्ञा के भेद - 3
संधि के भेद - 3
स्वर संधि के भेद - 5
समास के भेद - 6
तत्पुरुष समास के भेद - 6
कारक के प्रकार - 8
वचन कितने प्रकार के है - 2
लिंग के प्रकार - 2
काल के भेद - 3
विशेषण के भेद - 4
सर्वनाम के भेद - 6
क्रिया विशेषण के भेद - 4
क्रिया के प्रकार - 2
छंद के प्रकार - 2
अलंकार के प्रकार - 3
रस कितने प्रकार के होते है - 9
शब्द शक्ति के प्रकार - 3
वाक्य के घटक होते है - 2
वर्णों की संख्या - 52
व्यंजन वर्णों की संख्या - 33
संचारीभाव की संख्या - 33
सात्विक भाव की संख्या - 8
विभाव के भेद - 2
काव्य के भेद - 2
वेद कितने है - 4
वेदांग कितने है - 6
पुराण कितने है - 18
बौद्धों के धर्म-ग्रन्थ - 3
संगीत-स्वर के भेद - 3
नायिका के भेद - 3
नायक के भेद - 4
श्रृंगार के भेद - 2
हास्य के भेद - 6
वीर-रस के भेद - 3
काव्य के गुण - 3
विद्याएँ -18
विवाह प्रकार - 8
माताएँ - 7
रत्न के प्रकार - 9
राशियाँ - 12
दिन-रात के पहर - 8
वायु के प्रकार - 5
अग्नियाँ - 3
गुण के प्रकार - 3
शारीरिक दोष - 3
लोक - 3
ऋण के प्रकार - 3
ताप - 3
युग - 4
पुरुषार्थ - 4
वर्ण - 4
दंड के प्रकार - 4
शत्रु - 6
संहिताएँ - 4
भारतीय व्यक्ति-जीवन के संस्कार - 16
ईश्वर के रूप - 2(सगुण, निर्गुण)
भाषा के प्रकार - 2
मूल स्वर के भेद - 3
व्यंजनों के प्रकार - 3
स्पर्श व्यंजन होते है - 25
उष्म व्यंजन होते है - 4
संयुक्त व्यंजन - 4
वर्णों की मात्राएँ होती है - 10
कंठ्य वर्णों की संख्या - 9
तालव्य वर्णों की संख्या - 9
प्रयोग की दृष्टि से शब्द-भेद - 2
विकारी शब्द के प्रकार - 4
अविकारी शब्द के प्रकार - 4
उत्पति की दृष्टि से शब्द-भेद - 4
व्युत्पत्ति या रचना की दृष्टि से शब्द भेद - 3
वाक्य के भेद- अर्थ के आधार पर - 8
वाक्य के भेद- रचना के आधार पर - 3
विधेय के भाग - 6
सर्वनाम की संख्या - 11
प्रत्यय के भेद - 2
रस के अंग - 4
अनुभाव के भेद - 4
स्थायी भाव के प्रकार - 9
श्रृंगार रस के प्रकार - 2
नाटक में रस - 8
भरत मुनि ने रसों की संख्या माना है - 8
लक्षणा की शर्ते  - 3
वाच्य के भेद - 3
विश्व में हिंदी का स्थान - 3
प्रबंध काव्य के भेद होते हैं - 2
शैली के अनुसार काव्य के भेद - 2
मम्मट ने काव्य गुण बताए - 3
मम्मट ने काव्य दोष बताए है - 70
काव्य में पद दोष कितने है -16
वाक्य दोष होते है -21
उत्प्रेक्षा अलंकार के भेद - 3
रूपक अलंकार के भेद है - 3
उपमा अलंकार के भेद है - 3
उपमा अलंकार के अंग है - 4
स्वर कितने है - 11
वर्ण कितने प्रकार के होते हैं - 2
संस्कृत के उपसर्ग है - 22
हिन्दी के उपसर्ग - 13
उर्दू और फ़ारसी के उपसर्ग - 19
कृत् प्रत्यय की संख्या - 28
प्रत्यय के भेद हैं - 2
संविधान द्वारा मान्यताप्राप्त प्रादेशिक भाषाएँ - 22
संयुक्त स्वर है - 4
ह्स्व स्वर है - 4
दीर्घ स्वर है - 7
आचार्य कुंतक के अनुसार वक्रोक्ति के कितने भेद हैे - 6
क्षेमेंद्र के अनुसार औचित्य के प्रधान भेद हैं - 27
आनन्दवर्धन ने ध्वनि के कितने प्रकार माने है - 3
पंडित राज जगन्नाथ ने काव्य के कितने भेद किए हैं - 4
36
भोज ने रसों का विवेचन किया है - 12
आलंबन विभाव के कितने भेद हैं - 2
सात्विक अनुभाव की संख्या कितनी मानी गई है - 8
भरत मुनि ने कितने अलंकारों का उल्लेख किया है - 4
दण्डी ने काव्य गुणों की संख्या कितनी मानी है - 10
आचार्य भोज ने अनुसार काव्य गुणों की संख्या है - 24
वामन ने गुणों की संख्या मानी है - 20
मम्मट,भामह तथा आनंद वर्धन ने काव्य गुणों को माना है - 3
भारतीय काव्यशास्त्र में कितनी काव्य वृत्तियां मानी ग मानी गई है - 3
भरत के नाट्यशास्त्र में भावों की संख्या गिनाई है - 49
भरत मुनि ने कितने दोष - 20
भरत मुनि ने कितने गुण - 10
वलाघात कितने है - 3
सघोष संख्या - 20
अघोष संख्या - 13
महाप्राण संख्या - 14
अल्प्राण संख्या - 19
Previous Post Next Post